उत्तराखंड राज्य से विभिन्न क्षेत्रों में प्रमुख नियुक्तियां | First Person of Uttarakhand

उत्तराखंड राज्य से विभिन्न क्षेत्रों में प्रमुख नियुक्तियां | First Person of Uttarakhand

उत्तराखण्ड राज्य सम्बन्धी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले सवालों के आधार पर उत्तराखंड राज्य से विभिन्न क्षेत्रों में प्रमुख नियुक्तियां वाले First Person of Uttarakhand व्यक्तियों की सूची जिन्हें उत्तराखण्ड राज्य से प्रथम बार किसी कार्य को करने का गोरव प्राप्त है।

उत्तराखंड एक नवगठित राज्य भारत का एक उत्तरी राज्य है। इस राज्य का जन्म 9 नवंबर 2000 को भारत के 27वें राज्य के रूप में हुआ था। 

राज्य को लोकप्रिय रूप से देवभूमि के नाम से जाना जाता है जिसका अंग्रेजी संस्करण देवताओं की भूमि है।

  • उत्तरांचल राज्य विधेयक लोक सभा में पारित  किया गया : 1 अगस्त, 2000 को
  •  उत्तरांचल राज्य विधेयक राज्यसभा में पारित  किया गया : 10 अगस्त, 2000 को
  • उत्तरांचल राज्य विधेयक राष्ट्रपति के. आर. नारायन द्वारा स्वीकृत:- 28 अग. 2000 को
  •  उत्तरांचल राज्य का गठन कब हुआ : 9 नवम्बर, 2000 को
  •  भारतीय गणतंत्र का कौन सा राज्य है : 27 वाँ राज्य
  • पर्वतीय राज्यों के क्रम में सबसे अद्यतन गठित पर्वतीय राज्य कौन सा राज्य है: उत्तराखण्ड (11 वाँ राज्य)
  • राज्य का नाम:- 31-12-2006 तक उत्तरांचल तत्पश्चात 1-1-2007 से उत्तराखण्ड
  •  राज्य की राजधानी : देहरादून (राज्य गठन के समय से)
  •  राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी : गैरसैंण (20 जून 2020 से) 

यह सूची उत्तराखण्ड राज्य में होने वाली विभिन्न विभागीय परीक्षाओं में पूछे गए प्रश्नों पर आधारित है।

  उत्तराखंड के प्रथम राज्यपाल  (First Governor of Uttarakhand)

  •  प्रथम राज्यपाल : सुरजीत सिंह बरनाला (9 नव.
    2000 से 8जन. 2003 तक )
  •  द्वितीय राज्यपाल : सुदर्शन अग्रवाल (8 जन. 2003 से 29 अक्टू. 07 तक)
  • तृतीय
    राज्यपाल : बी.एल.जोशी
    ( 29 अक्टू. 07 से 6 अग. 09 तक
    )
  • चतुर्थ
    राज्यपाल : माग्रेट अल्वा ( 6 अग. 09 से 15 मई 2012 तक )
  • पंचम
    राज्यपाल : डॉ. अजीज कुरैशी
    (15 मई, 2012 से 8 जन. 2015)
  • षष्ठम
    राज्यपाल : डॉ. कृष्णकान्त पाल
    ( 8 जन. 2015 से. ( 26 अग. 2018 तक )
  • सप्तम
    वर्तमान राज्यपाल : बेबी रानी मौर्य
    (26 अगस्त 2018 से….. )

उत्तराखंड के प्रथम मुख्यमंत्री  (First CM of Uttarakhand)

  • प्रथम
    मुख्यमंत्री (अंतरिम) : नित्यानन्द स्वामी ( 9नव. 2000 से 29 अक्टू. 2001 तक)
  • द्वितीय
    मुख्यमंत्री (अंतरिम) : भगत सिंह कोश्यारी
    (29 अक्टू. 2001 से 2 मार्च 02 तक
    )
  • तृतीय
    मुख्यमंत्री (कांग्रेस) (प्रथम निर्वाचित) : नारायण दत्त तिवारी (2 मार्च
    02 से 7 मार्च (07 तक)
  • चतुर्थ
    मुख्यमंत्री (भाजपा) : मे. जन. भुवनचन्द
    खण्डूरी ( 8 मार्च 107 से 27 जून. 09 तक)
  • पंचम
    मुख्यमंत्री (भाजपा) : डॉ. रमेश पोखरियाल
    ‘निशंक’ (27 जून 09 से 11 सितम्बर 2011 तक)
  • षष्ठम
    मुख्यमंत्री (भाजपा) : मे. जन भुवनचन्द खण्डूरी
    (11 सितम्बर, 2011 से 13 मार्च, 2012 तक )
  • सप्तम
    मुख्यमंत्री (कांग्रेस) : विजय बहुगुणा ( 13 मार्च,
    2012 से 1 फर. 2014 तक)
  • अष्टम
    मुख्यमंत्री (कांग्रेस) : हरीश रावत ( 1 फर.
    2014 से 18 मार्च 2017)
  • नवम
    (वर्तमान) मुख्यमंत्री (भाजपा) : त्रिवेन्द्र सिंह रावत (18 मार्च
    2017 से )

उत्तराखंड के प्रथम विधानसभा अध्यक्ष (First speaker of the Assembly of Uttarakhand)

  • प्रथम
    विधानसभा अध्यक्ष (अंतरिम): प्रकाश पन्त
  • प्रथम
    विधानसभा अध्यक्ष: यशपाल आर्य
  • द्वितीय
    विधानसभा अध्यक्ष : हरबंश कपूर (भाजपा)
  • तृतीय
    विधानसभा अध्यक्ष : गोविन्द सिंह कुंजवाल (कांग्रेस)
  • चतुर्थ
    विधानसभा अध्यक्ष (वर्तमान) : प्रेमचन्द्र अग्रवाल (भाजपा)
  • विधानसभा
    उपाध्यक्ष (वर्तमान) : डॉ. अनुसूया प्रसाद
    मैखुरी

उत्तराखंड के प्रथम मुख्य न्यायाधीश (First Chief Justice of Uttarakhand)

  • प्रथम
    मुख्य न्यायाधीश, उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय : अशोक
    अभेन्द्र देसाई.
  • वर्तमान
    मुख्य न्यायाधीश, उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय : न्यायमूर्ति
    रवि विजय कुमार मलिमथ
    ( 28 जुलाई, 2020 से )
  • प्रथम
    महाधिवक्ता : मेहरबान सिंह नेगी
  • वर्तमान
    महाधिवक्ता : सूर्य नारायण बाबुलकर ( मार्च 2017 से )
  •  प्रथम अध्यक्ष राज्य विधि आयोग : न्यायमूर्ति
    धर्मवीर शर्मा (अप्रैल, 2011)
  •  वर्तमान अध्यक्ष राज्य विधि आयोग : न्यायमूर्ति
    राजेश टंडन (15 जन. 2018 से.)
  •  प्रथम अध्यक्ष, राज्य वित्त आयोग : आर. के. धर
    (2001)
  • वर्तमान
    (पांचवे) अध्यक्ष राज्य वित्त आयोग : इंद्र कुमार पाण्डेय
  • प्रथम अध्यक्ष,
    राज्य मानवाधिकार आयोग : विजेन्द्र जैन (मई 2013 से दिस. 2016 )
  • वर्तमान अध्यक्ष,
    राज्य मानवाधिकार आयोग : न्याय. विजय कुमार विष्ट
  • प्रथम अध्यक्ष,
    राज्य महिला आयोग : डॉ. (श्रीमती) संतोष चौहान
  • वर्तमान अध्यक्ष,
    राज्य महिला आयोग : विजया बड़थ्वाल (28 दिसम्बर, 2018 से)
  • प्रथम अध्यक्ष,
    राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग : अजय सेतिया
  • वर्तमान अध्यक्ष,
    राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग : उषा नेगी (19 मई 2018 से)
  • प्रथम अध्यक्ष,
    राज्य एससी/एसटी आयोग : नारायण राम आर्य
  • वर्तमान अध्यक्ष,
    राज्य एससी/एसटी आयोग : मूरत राम शर्मा (नव. 2019 से)
  • प्रथम अध्यक्ष,
    राज्य लोक सेवा आयोग : एन. पी. नवानी (15 मई से 14 अगस्त, 2001)
  •  प्रथम अध्यक्ष, अधीनस्थ चयन आयोग (यूकेएसएसएससी)
    : डॉ. आर. बी. एस. रावत (26 सित. 2014 से 21 सित. 2016 )
  • वर्तमान अध्यक्ष,
    अधीनस्थ चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) : एस. राजू (22 सित. 2016 से )
  • प्रथम राज्य
    लोकायुक्त : न्यायमूर्ति एस. एच. ए. रजा (अक्टू. 2002 से 2008 तक)
  • प्रथम मुख्य
    सूचना आयुक्त राज्य सूचना आयोग : डॉ. आर.एस. टोलिया (12-10-2005 से)
  • वर्तमान मुख्य
    सूचना आयुक्त, राज्य सूचना आयोग : शत्रुघ्न सिंह (19 नव. 2016 से)
  • वर्तमान अध्यक्ष,
    राज्य अल्पसंख्यक आयोग : डॉ. आर. के. जैन ( 24 दिस. 2018 से)
  • प्रथम मुख्य
    आयुक्त राज्य सेवा का अधिकार आयोग : आलोक कुमार जैन ( 17 जुलाई 2014 से)
  • प्रथम मुख्य
    सचिव, राज्य प्रशासन : अजय विक्रम सिंह
  • वर्तमान
    (16वें) मुख्य सचिव राज्य प्रशासन : ओम प्रकाश (31 जुलाई 2020 से)
  • प्रथम महानिदेशक,
    यूके पुलिस : अशोक कान्त शरण
  • वर्तमान महानिदेशक,
    यूके पुलिस : अनिल रतूड़ी (24 जुला. 2017 से)

आप इसे भी पढ़ सकते हैं

उत्तराखंड राज्य के जिले और उनके स्थापना वर्ष

देहरादून

1817

पौढ़ी

1840

अल्मोड़ा

1891

नैनीताल

1891

टिहरी

1949

पिथौरागढ़

1960

उत्तरकाशी

1960

चमोली

1960

हरिद्वार

1988

ऊ.सि. नगर

1995

रुद्र प्रयाग

1997

चम्पावत

1997

बागेश्वर

1997

 उत्तराखंड राज्य से विभिन्न क्षेत्रों में प्रमुख नियुक्तियां | First Person of Uttarakhand

उत्तराखंड  वन्य
जीव संरक्षण:-

वन्यजीवों
के संरक्षण हेतु प्रदेश में
6 राष्ट्रीय उद्यान, 7 वन्य जीव विहार,
एक पक्षी संरक्षण आरिक्षिति सहित कुल 4 संरक्षण
आरिक्षिति, 1 उच्चस्थलीय प्राणी उद्यान एक जैव सुरक्षित
क्षेत्र तथा एक चिड़ियाघर
है।

  • राज्य
    का प्रथम चिड़ियाघर – देहरादून चिड़ियाघर (2016)
  • देहरादून
    चिड़ियाघर की जगह पहले
    था – मालसी डियर पार्क
  • राज्य
    का द्वितीय चिडियाघर गौलापार, हल्द्वानी में 400 हे. क्षेत्र में
    निर्माणाधीन है। यह देश
    में अपने तरह का
  • चिड़ियाघर
    होगा। यह होगा |- कार्बन
    न्यूट्ल जू
  • गोविन्द
    बल्लभ पंत राजकीय प्राणी
    उद्यान स्थित है : नैनीताल में
  • राज्य
    का प्रथम वन्य जीव संरक्षण
    केन्द्र ‘मोतीचूर वन्य जीव विहार
    [1935] था, जिसे बाद में
    शामिल कर लिया गया
    :- राजाजी राष्ट्रीय उद्यान में
  • राज्य
    में राष्ट्रीय उद्यान –m 6 ( कार्बेट, गोविन्द, नन्दादेवी, फूलों की घाटी, राजाजी
    तथा गंगोत्री)
  • भारत
    एवं एशिया के प्रथम राष्ट्रीय
    उद्यान के रूप में
    (गवर्नर हेली के नाम
    पर) 1936 में नैनीताल में
    हैली राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना की
    गई। स्वतन्त्रता के बाद इनका
    नाम बदल कर रामगंगा
    नेशनल पार्क कर दिया गया।
    1957 में इसका नाम कर
    दिया गया :- जिम कार्बेट राष्ट्रीय
    उद्यान
  • जिम
    कार्बेट उद्यान का विस्तार है-
    पौढ़ी व नैनीताल जिलों में
  • पाटली
    दून किस राष्ट्रीय उद्यान
    के मध्य में हैं? :- जिम कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान
  • किस
    राष्ट्रीय उद्यान के मध्य से
    होकर कोसी व ढेला
    नदियां बहती  :-कार्बेट रा.उ.
  • किसी
    राष्ट्रीय उद्यान में सर्वाधिक पर्यटक
    आते हैं ? : जिम कार्बेट, रा.उ.
  • सर्वाधिक
    बाघों वाला राष्ट्रीय उद्यान
    है:- कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान
  • देश
    में बाघों के घनत्व के
    मामले में प्रथम राष्ट्रीय
    उद्यान है। :- कार्बेट रा.उ.
  • कार्बेट
    को प्रोजेक्ट टाइगर के अन्तर्गत शामिल
    किया गया : 1973 में
  • राजाजी
    रा. उद्यान को प्रोजेक्ट टाइगर
    के अन्तर्गत शामिल किया गया :
    अप्रैल 2015 में
  • प्रोजेक्ट
    टागइर के अन्तर्गत शामिल
    उद्यानों में बाघों की
    प्रतिवर्ष गणना:-  अनिवार्य है।
  • कार्बेट
    व राजाजी पार्क के वन्य जीव
    प्रतिपालक (सित. 2010 से) : महेन्द्र सिंह धोनी
  • राजाजी
    उद्यान के चीला रेंज
    में पर्यटकों हेतु उपलब्ध है
    : एलीफेंट सफारी
  • फूलों
    की घाटी या पुष्पावती
    राष्ट्रीय उद्यान चमोली जिले में है
    : नर वर गंधमादन पर्वतों
    के मध्य
  • फूलों
    की घाटी में कौन
    नदी बहती है? :
    पुष्पावती नदी
  • फूलों
    की घाटी की खोज
    1931 में ब्रिटिश पर्वतरोही फ्रैंक स्माइथ ने की थी।
    उन्होंने अपनी पुस्तक “दि
    वैली ऑफ फ्लावर” में
    इस घाटी को विश्व
    के सामने लाया। इस पुस्तक में
    उन्होंने यहाँ 2500 पुष्पों एवं वनस्पतियों के
    एक जगह उपस्थिति होने
    का उल्लेख किया है। वे
    यहाँ से कितने पुष्पों
    का बीज अपने देश
    ले गये थे? : लगभग
    250
  • 1982 में
    स्थापित नंदादेवी राष्ट्रीय उद्यान स्थित है : चमोली
  • 1980 में
    स्थापित गोविन्द व 1989 में स्थापित गंगोत्री
    राष्ट्रीय उद्यान स्थित है: उत्तरकाशी
  • 1983 में
    स्थापित राजाजी राष्ट्रीय उद्यान देहरादून, पौढ़ी एवं हरिद्वार जिलों
    में विस्तृत है लेकिन मुख्यालय है
    : देहरादून में
  • सर्वाधिक
    हाथी एवं बारहसिंगों वास्ता
    राष्ट्रीय उद्यान है : राजाजी रा.उ.
  • एशियाई
    हाथियों के लिए मशहूर
    राष्ट्रीय उद्यान : राजाजी रा.उ.
  • कस्तूरी
    मृगों वाला राष्ट्रीय उद्यान
    : फूलों की घाटी (चमोली)
  • सबसे
    पुराना और सबसे नया
    राष्ट्रीय उद्यान : कार्बेट और गंगोत्री ( उत्तरकाशी)
  • सबसे
    बड़ा और सबसे छोटा
    राष्ट्रीय उद्यान : गंगोत्री और फूलों की
    घाटी
FAQ 1 : उत्तराखण्ड राज्य विधेयक लोक सभा में पारित गया ?

1 अगस्त, 2000 को

FAQ 2 : उत्तराखण्ड राज्य विधेयक राज्यसभा में पारित गया ?

10 अगस्त, 2000 को

FAQ 3 : उत्तराखण्ड के राज्य पशु कस्तूरी मृग का वैज्ञानिक नाम है ?

मास्कस काइसौगॉस्टर

FAQ 4 : राज्य वृक्ष बुरॉस का वानस्पतिक नाम है ?

रोडोडेन्ड्रान अरबोरियम

FAQ 5 : प्रथम विधानसभा (परिसर) भवन ?

देहरादून

FAQ 6 : देश में दो विधानसभा भवन वाले अन्य राज्य ?

महाराष्ट्र व जम्मू कश्मीर

FAQ 7 : ग्राम पंचायत के सचिव की नियुक्ति करती हैं ?

ग्राम पंचायतें

FAQ 8 : राज्य सूचना आयोग का गठन किया गया ?

3 अक्टू., 2005 को

FAQ 9 : राज्य मानवाधिकार आयोग का प्रथम गठन किया गया ?

जुलाई 2011 में

FAQ 10 : राज्य विधानसभा द्वारा सेवा का अधिकार कानून बनाया गया ?

2011

FAQ 11 : सेवा का अधिकार अधिनियम के तहत जनता के अधिकारों की रक्षा हेतु सेवा अधिकार आयोग का गठन किया गया ?

13 मार्च 2013 को

Leave a Comment